Advertisement

श्री गणेश स्तुति - गाइये गनपति जगबंदन | Shree Ganesh Stuti - Gaiye Ganpati Jagbandan

गाइये गनपति जगबंदन। 
संकर-सुवन भवानी नंदन ॥ १ ॥ 

सिद्धि-सदन, गज बदन, बिनायक। 
कृपा-सिंधु,सुंदर सब-लायक ॥ २ ॥ 

मोदक-प्रिय, मुद-मंगल-दाता। 
बिद्या-बारिधि,बुद्धि बिधाता ॥ ३ ॥ 

माँगत तुलसिदास कर जोरे। 
बसहिं रामसिय मानस मोरे ॥ ४ ॥

Post a Comment

और नया पुराने

Advertisement

Advertisement