Advertisement

आरती: जय मुनिसुव्रतनाथ स्वामी | Aarti: Jai Munisuvratnath swami

जय मुनिसुव्रतनाथ स्वामी, प्रभु मुनिसुव्रतनाथ स्वामी
जय मुनिसुव्रतनाथ स्वामी, प्रभु मुनिसुव्रतनाथ स्वामी

भक्ति भाव से प्रणमु तुमको, जय अन्तरयामि (२)
जय मुनिसुव्रतनाथ स्वामी

राजगृही में जन्म किया प्रभु (२), आनन्द भयो भारी ।
सुर नर मुनि गुण गाये तिहारी, आरती करी थारी ॥
जय मुनि सुव्रतनाथ स्वामी

पिता तिहारे सुमित्र राजा (२), शामा के जाया ।
श्याम वर्ण मूरत तेरी हैं, पैठण अतिशय दर्शाया ॥
जय मुनि सुव्रतनाथ स्वामी

जो ध्यावे सुख पावे सब ही (२), सब संकट को दूर करे (२)।
मंवांचित फल पावे सब ही (२), जो प्रभु चरण हरे (२) ॥
जय मुनि सुव्रतनाथ स्वामी 

Image Source:
'Munisuvrata Hasteda' by Vinitapramod, Image compressed, is licensed under CC BY-SA 4.0

Post a Comment

और नया पुराने

Advertisement

Advertisement