Advertisement

श्री नरसिंह भगवान की आरती | Shree Narsinh bhagwan ki aarti

ॐ जय नरसिंह हरे, प्रभु जय नरसिंह हरे ।
स्तंभ फाड़ प्रभु प्रकटे, स्तंभ फाड़ प्रभु प्रकटे, जनका ताप हरे ॥
॥ ॐ जय नरसिंह हरे ॥

तुम हो दिन दयाला, भक्तन हितकारी, प्रभु भक्तन हितकारी ।
अद्भुत रूप बनाकर, अद्भुत रूप बनाकर, प्रकटे भय हारी ॥
॥ ॐ जय नरसिंह हरे ॥

सबके ह्रदय विदारण, दुस्यु जियो मारी, प्रभु दुस्यु जियो मारी ।
दास जान आपनायो, दास जान आपनायो, जनपर कृपा करी ॥
॥ ॐ जय नरसिंह हरे ॥

ब्रह्मा करत आरती, माला पहिनावे, प्रभु माला पहिनावे ।
शिवजी जय जय कहकर, पुष्पन बरसावे ॥
॥ ॐ जय नरसिंह हरे ॥

Image source:
'Lord Narasimha killing demon hiranakashyap in his lap' by Megh shakya, image compressed, is licensed under CC BY-SA 4.0

Post a Comment

और नया पुराने

Advertisement

Advertisement